करंट अफेयर्स 25 मई 2017

फंसे कर्ज से समाधान के लिए RBI करेगा निगरानी समिति का पुनर्गठित

  • RBI ने कहा है कि NPA से निपटने में रेटिंग एजेंसियों की जरुरी भूमिका होगी।
  • वह फंसे कर्ज के मुद्दे के समाधान के लिये बैंक अध्यादेश को लागू करने के लिये अपने अंतर्गत निगरानी समिति पुनर्गठित करेगा।
  • अभी तक जितने बैंकों के नतीजे आएं हैं, उनके विश्लेषण से पता चलता है कि साल 2016-17 में उनका ग्रॉस NPA 7.7 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच गया।
  • इसमें SBI को छोड़ दें तो बाकी बैंकों का NPA 7.11 लाख करोड़ रुपए है, जो एक साल पहले 5.70 लाख करोड़ रुपए था।
  • पिछले साल इसमें 25% की बढ़ोतरी हुई। शुद्ध NPA में तो 58% बढ़ोतरी हुई है। इससे यही साबित होता है कि NPA कम करने के अभी तक जो भी उपाय हुए हैं, वे असंतोषजनक हैं। 

शिवराज सरकार की हैप्पीनेस मिनिस्ट्री IIT खड़गपुर से चेक करवाएगी ख़ुशी का स्तर

  • मध्यप्रदेश सरकार अब प्रदेश में प्रसन्नता सूचकांक विकसित करने के लिए आईआईटी खड़कपुर से मदद लेने जा रही है। 
  • प्रदेश सरकार ने बीते साल आनंद मंत्रालय बनाया था और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पहले आनंद मंत्री बने थे। 
  • आनंद मंत्रालय ने सीएम की मौजूदगी में आईआईटी खड़गपुर से एक एमओयू साइन किया है। 
  • इस एमओयू के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिले के अधिकारियों से बात की और उनके जिलो में हो रहे आनंद के कामों की समीक्षा की।

Paytm का भुगतान बैंक शुरू, 4% ब्याज और दे रहा कैशबैक

  • डिजिटल भुगतान करने वाली कंपनी पेटीएम ने आज अपने भुगतान बैंक की शुरुआत कर दी। बैंक ने जमा पूंजी पर चार प्रतिशत की दर से ब्याज और कैशबैक की पेशकश की है। 
  • इसी प्रकार भुगतान बैंक के जरिये ऑनलाइन लेनदेन पर कोई फीस नहीं लेने और खाते में न्यूनतम बकाये की भी कोई शर्त नहीं रखी गई है। 
  • पेटीएम के भुगतान बैंक को चीन की अलीबाबा और जापान के बड़े निवेश बैंक साफटबैंक का भी समर्थन प्राप्त है।
  • कंपनी ने दो साल के दौरान अपने बैंकिंग नेटवर्क के विस्तार के लिये 400 करोड़ रुपये की शुरुआती निवेश की योजना बनाई है। 
  • एयरटेल के बाद पेटीएम देश की तीसरी कंपनी है, जिसने भुगतान बैंक की शुरुआत की है। 

इस देश की पुलिस ने भर्ती कर लिया 'रोबोट

  • दुबई में तीन दिवसीय गल्फ सूचना सुरक्षा एक्सपो और कॉन्फ्रेंस में रोबोटकॉप को सामने लाया गया। 
  • यह दुबई पुलिस के लिए काम करेगा। 2030 तक यहां की सरकार ऐसे रोबोट की फोर्स तैयार करना चाहती है, जिसका यह पहला उदाहरण है।
  • 5 फीट 5 इंच की लंबाई वाले रोबोकॉप का वजन 100 किलो है। रोबोकॉप छह भाषाएं बोल सकता है और इसे लोगों के चेहरों के भाव पढ़ने के लिए विकसित किया गया है।
  • हालांकि तीन दिवसीय एक्सपो के बाद यह महसूस किया गया कि रोबोट को और विकसित किए जाने की जरूरत है, ताकि यह लोगों की निजी जिंदगी से जुड़ी मामलों को भी समझ सके। 

0 comments:

Post a Comment